Career Point Shimla

+91-98052 91450

info@thecareerspath.com

अर्थव्यवस्था : बढ़त के संकेत | Economy takes a positive turn

अर्थव्यवस्था : बढ़त के संकेत | Economy takes a positive turn

राज्य सभा टीवी के ख़ास प्रोग्राम देश देशांतर के इस अंक में आज बात अर्थव्यवस्था : बढ़त के संकेत की. मंदी के दौर का सामना करने वाली भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए आखिर अच्छी खबर आ गई. दिसंबर तिमाही में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 0.4 फीसदी की बढ़त हुई है. यानी भारतीय अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से बाहर निकल गई है. पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी में 8 फीसदी की गिरावट आने का अनुमान है. जीडीपी के इन आंकड़ों का सबको बेसब्री से इंतजार था. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय के द्वारा ये आंकड़े जारी किए गए. अप्रैल से जनवरी के दौरान राजकोषीय घाटा 12.34 लाख करोड़ रुपये का रहा है. सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के मुताबिक अक्टूबर से दिसंबर की तीसरी तिमाही की कुल जीडीपी 36.22 लाख करोड़ रुपये की रही. साल 2019-20 की तीसरी तिमाही में यह 36.08 लाख करोड़ रुपये की थी. संशोध‍ित अनुमान के मुताबिक इस साल कुल जीडीपी 134.09 लाख करोड़ रुपये का ही रह सकती है. साल 2019-20 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 4 फीसदी की बढ़त हुई थी. गौरतलब है कि भारतीय अर्थव्यवस्था कोरोना की वजह से इतिहास में पहली बार तकनीकी रूप से मंदी के दौर में पहुंची थी. जब कोई अर्थव्यवस्था लगातार दो तिमाही गिरावट में रहती है, तो यह मान लिया जाता है कि वह तकनीकी रूप से मंदी के दौर में पहुंच चुकी है. कोरोना संकट की वजह से पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था गिरावट के दौर में है. इसकी वजह से ही इस वित्त वर्ष की जून में होने वाली पहली तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में 23.9 फीसदी की गिरावट आई. इसकी वजह यह थी कि उस दौरान देश में काफी सख्त लॉकडाउन लगा था और इकोनॉमी पूरी तरह से ठप थी. इसके बाद फिर सितंबर की दूसरी तिमाही में जीडीपी में 7.5 फीसदी की गिरावट आई. तो आज बात इन्ही मुद्दों की

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top