Career Point Shimla

+91-98052 91450

info@thecareerspath.com

आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना | India’s 8-Point Plan Against Terror

आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना | India’s 8-Point Plan Against Terror

राज्य सभा टीवी के ख़ास प्रोग्राम देश देशांतर के इस अंक में आज बात आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना की. भारत ने एक बार फिर दुनिया से आतंकवाद के खिलाफ बिना किसी किंतु-परन्तु के निर्णायक कार्रवाई करने का आह्वान किया है। संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन के दौरान विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि आतंकवाद पर जीरो टॉलरेंस की जरूरत है। एस जयशंकर ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के लिए आतंकवाद के खतरे को संबोधित करने और प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए आठ सूत्रीय एजेंडा भी दिया। यह खुली बहस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के प्रस्ताव संख्या 1373 की बीसवीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित की गयी थी. सुरक्षा परिषद् ने यह प्रस्ताव अमरीका पर 9/11 आतंकी हमले के बाद पास किया था। इसके तहत एक आतंक रोधी समिति का गठन किया गया था। आतंकवाद का मुकाबला करने में अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर वीडियो सम्मेलन में विदेश मंत्री ने कहा, ‘यह समय है कि सभी राष्ट्र बात करें और आतंकवाद के प्रति शून्य सहिष्णुता यानि जीरो टॉलरेंस के लक्ष्य के लिए अपनी भूमिका का निर्वाह करें। इस लड़ाई में दोहरे मानदंड नहीं होने चाहिए। आतंकवादी आतंकवादी हैं। कोई भी अच्छा या बुरा आतंकवाद नहीं है, जो लोग इस भेद को प्रचारित करते हैं उनका एक एजेंडा है और जो लोग उनके लिए संरक्षण प्रदान करते हैं वे भी अपराधी हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर) ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस साल 1 जनवरी को दो साल के लिए भारत की सदस्यता ग्रहण करने के बाद पहली बार यूएन को संबोधित किया। देश देशांतर में आज बात होगी आतंकवाद के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई के लिए भारत की तरफ से दिए गए आठ सूत्रीय एजेंडे की..तो आज बात इन्हीं मुद्दों की.

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना | India’s 8-Point Plan Against Terror

आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना | India’s 8-Point Plan Against Terror

राज्य सभा टीवी के ख़ास प्रोग्राम देश देशांतर के इस अंक में आज बात आतंकवाद के खिलाफ 8 सूत्रीय योजना की. भारत ने एक बार फिर दुनिया से आतंकवाद के खिलाफ बिना किसी किंतु-परन्तु के निर्णायक कार्रवाई करने का आह्वान किया है। संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन के दौरान विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि आतंकवाद पर जीरो टॉलरेंस की जरूरत है। एस जयशंकर ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के लिए आतंकवाद के खतरे को संबोधित करने और प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए आठ सूत्रीय एजेंडा भी दिया। यह खुली बहस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के प्रस्ताव संख्या 1373 की बीसवीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित की गयी थी. सुरक्षा परिषद् ने यह प्रस्ताव अमरीका पर 9/11 आतंकी हमले के बाद पास किया था। इसके तहत एक आतंक रोधी समिति का गठन किया गया था। आतंकवाद का मुकाबला करने में अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर वीडियो सम्मेलन में विदेश मंत्री ने कहा, ‘यह समय है कि सभी राष्ट्र बात करें और आतंकवाद के प्रति शून्य सहिष्णुता यानि जीरो टॉलरेंस के लक्ष्य के लिए अपनी भूमिका का निर्वाह करें। इस लड़ाई में दोहरे मानदंड नहीं होने चाहिए। आतंकवादी आतंकवादी हैं। कोई भी अच्छा या बुरा आतंकवाद नहीं है, जो लोग इस भेद को प्रचारित करते हैं उनका एक एजेंडा है और जो लोग उनके लिए संरक्षण प्रदान करते हैं वे भी अपराधी हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर) ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस साल 1 जनवरी को दो साल के लिए भारत की सदस्यता ग्रहण करने के बाद पहली बार यूएन को संबोधित किया। देश देशांतर में आज बात होगी आतंकवाद के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई के लिए भारत की तरफ से दिए गए आठ सूत्रीय एजेंडे की..तो आज बात इन्हीं मुद्दों की.

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top